अनुच्छेद १५२ : व्याख्या :